हाथ में साइमन खेल   बाघ ों का हाथ   इलेक्ट्रॉनिक बेसबॉल खेल   ईए खेल खेल   मर्लिन इलेक्ट्रॉनिक खेल
当前位置:हाथ में साइमन खेल > इलेक्ट्रॉनिक बेसबॉल खेल > 详情
इलेक्ट्रॉनिक बेसबॉल खेल列表

इलेक्ट्रॉनिक बेसबॉल खेल रोग प्रतिरोधक बढ़ाने वाली चीजें कहीं बन जाए ना बीमार

时间:2020-09-16 12:37来源:http://bush80.com 作者:हाथ में साइमन खेल 点击:
Coronavirus And Ayurveda रोग प्रतिरोधक बढ़ाने वाली चीजें कहीं बन जाए ना बीमारी का कारण, चिकित्सकों से जरूर लें सलाह

Coronavirus and Ayurveda : कोरोनावायरस से बचने के लिए लोग इम्यूनिटी बूस्ट करने के कई तरह के उपाय अपना रहे हैं, लेकिन आपको बता दें कि यह उपाय कई तरह के बीमारियों का कारण बन रही है। मसाला, काढ़ा, जिंकइलेक्ट्रॉनिक बेसबॉल खेल, विटामिंस इत्यादि के ओवरडोज की वजह से अल्सरइलेक्ट्रॉनिक बेसबॉल खेल, पेट दर्द और फ्लू जैसी तमाम शिकायतें होने लगती हैं। इसलिए डॉक्टरी परामर्श से ही इन उपायों को अपनाएंइलेक्ट्रॉनिक बेसबॉल खेल, वरना आप कई तरह की परेशानियों के शिकार (Coronavirus and Ayurveda) हो सकती हैं। Also Read - स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहाइलेक्ट्रॉनिक बेसबॉल खेल, कोविड रोगियों के लिए मेडिकल ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं

इस महामारी का प्रकोप जब से शुरू हुआ हैइलेक्ट्रॉनिक बेसबॉल खेल, तब से लोगों द्वारा इससे बचने के उपाय अपनाएं जा रहे हैं। आजकल कई लोग काढ़ा, गिलोय, मसाला, विटामिन-सी, जिंक इत्यादि का सेवन बहुत ही अधिक कर रहे हैं। इनकी सही मात्रा की जानकारी न होने की वजह से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली इन चीजों का सेवन लोग बेहिसाब मात्रा में कर रहे हैं। अदरक, वसा मस्तिष्क खिलौने इलेक्ट्रॉनिक आर्केड बास्केट दालचीनी, लौंग जैसे मसाले तासीर को गर्म करते हैं। इनके अधिक इस्तेमाल से छाले, पेट की परेशानियां, कब्ज, हार्ट, बवासीर जैसी तमाम समस्याएं (Coronavirus and Ayurveda) बढ़ रही हैं। Also Read - Covid-19 Live Updates: भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या हुई 49,30,236, अब तक 80,776 लोगों की मौत

जिंक के ओवरडोज से दिखते हैं फ्लू जैसे लक्षण

हमारे शरीर को जिंक और विटामिन-सी की बहुत ही अधिक आवश्यकता होती है। जिंक स्वाद परखने,इलेक्ट्रॉनिक बेसबॉल खेल डीएनए निर्माण, चोट लगने पर जल्द सूखने के साथ-साथ इम्यून पावर को बढ़ाने का कार्य करता है। हालांकि, इसके अधिक सेवन से शरीर को कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। जिंक का ओवरडोज लेने से उल्टी होना, मिचली आना, पेट दर्द, डायरिया के साथ ही फ्लू जैसे लक्षण दिखने लगते हैं। इतना ही नहीं  जिंक के अधिक सेवन से शरीर में कॉपर तत्व की कमी होने लगती है, जो स्वस्थ शरीर के लिए बहुत ही जरूरी है। इसी तरह विटामिन-सी की अधिक मात्रा लेने से पेट में दर्द, डायरिया, पथरी, दांतों पर कैल्शियम की परत जमने के साथ ही कब्ज की शिकायत होने लगती है। चिकित्सक के परामर्श पर जरूरत के अनुसार ही इनका सेवन करें। Also Read - केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, कोरोनावायरस से लड़ाई अभी जारी रहेगी

सही मात्रा में करें औषधियों का प्रयोग

इम्यून सिस्टम को बेहतर करने के लिए कोरोनाकाल में आयुर्वेदिक काढ़ा और औषधी वरदान के समना कार्य करता है, लेकिन सही मात्रा में इन औषधी का सेवन करना बहुत ही जरूरी है। औषधियों के इस्तेमाल का अगर सही ज्ञान ना हो, तो यह शरीर को फायदे पहुंचाने की जगह नुकसान पहुंचा सकता है। आयुर्वेदिक औषधी का इस्तेमाल करने से पहले वैद्य से इसकी सलाह जरूर लें।

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए हल्दी वाला दूध हमारे लिए बहुत ही लाभकारी है। लेकिन दूध में हल्दी मिलाते टाइम इसकी मात्रा का ख्याल रखें। विशेषज्ञों के अनुसार, एक गिलास दूध में सिर्फ हल्दी की मात्रा सिर्फ 3 ग्राम होनी चाहिए। दूध को हमेशा लोहे की कड़ाही में उबालें।

कोरोनावायरस के गंभीर मरीजों को ब्लड क्लॉटिंग का खतरा, इस तरह खून को करें पतला

डायबिटीज का शिकार होने से बचा सकती हैं ये 6 आदतें, आज से ही अपना लें इन्हें

एक दिन में 5 ग्राम से अधिक नमक खाना हो सकता है घातक, रिसर्च में खुलासा

Published : August 23, 2020 1:50 pm Read Disclaimer Comments - Join the Discussion ब्लड शुगर कंट्रोल करना हो या वजन कम, जानें गणेश चतुर्थी पर बप्पा के फेवरेट मोदक के 7 फायदेब्लड शुगर कंट्रोल करना हो या वजन कम, जानें गणेश चतुर्थी पर बप्पा के फेवरेट मोदक के 7 फायदे ब्लड शुगर कंट्रोल करना हो या वजन कम, जानें गणेश चतुर्थी पर बप्पा के फेवरेट मोदक के 7 फायदे डायबिटीज का शिकार होने से बचा सकती हैं ये 6 आदतें, आज से ही अपना लें इन्हेंडायबिटीज का शिकार होने से बचा सकती हैं ये 6 आदतें, आज से ही अपना लें इन्हें डायबिटीज का शिकार होने से बचा सकती हैं ये 6 आदतें, आज से ही अपना लें इन्हें ,,