हाथ में साइमन खेल   बाघ ों का हाथ   इलेक्ट्रॉनिक बेसबॉल खेल   ईए खेल खेल   मर्लिन इलेक्ट्रॉनिक खेल
当前位置:हाथ में साइमन खेल > बाघ ों का हाथ > 详情
बाघ ों का हाथ列表

बाघ ों का हाथ कोविड-19 संक्रमित महिला का हुआ गर्भपात । TheHealthSite Hindi

时间:2020-09-16 12:15来源:http://bush80.com 作者:हाथ में साइमन खेल 点击:
Pregnancy during Covid 35 की उम्र के बाद प्रेग्नेंसी प्लान कर रही हैं तो इन 5 बातों का रखें विशेष ध्यान

Pregnancy and Covid: कोरोना वायरस महामारी के असर से गर्भ में पल रहे बच्चे कितना सुरक्षित हैं इससे जुड़ी एक चौंकानेवाली घटना सामने आयी है। मुंबई में एक कोविड-19 संक्रमित महिला का  गर्भपात हो गया । मिली जानकारी के अऩुसार  मुंबई में सामने आए मामले में कोविड-19 संक्रमित महिला का प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में गर्भपात हो गया। इस महिला की टेस्ट रिपोर्ट्स के आधार पर कहा गया कि महिला की गर्भनाल और प्लेसेंटा के माध्यम से भ्रूण तक पहुंचा था। (Pregnancy during Covid) Also Read - कितने अलग होते हैं फ्लू और कोविड-19 के लक्षण? जानें दोनों के बीच का अंतर

कोविड-19 संक्रमण में समय के साथ अलग-अलग तरह के बदलाव आ रहे हैं। पहले कहा जा रहा था कि, गर्भ में पल रहे बच्चे को कोरोना वायरस का खतरा नहीं है। लेकिनबाघ ों का हाथ, पिछले कुछ समय से इससे जुड़ी नयी स्थितियां भी सामने आ रही हैं।  एक्सपर्ट्स के अनुसार सार्स-कोवि 2 (SARS-CoV-2) इंफेक्शन प्रेगनेंट महिलाओं के लिए नुकसानदायक होता है। जिसका एक उदाहरण है यह मामला। Also Read - स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहाबाघ ों का हाथ, कोविड रोगियों के लिए मेडिकल ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं

  Also Read - Covid-19 Live Updates: भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या हुई 49बाघ ों का हाथ,30बाघ ों का हाथ,236बाघ ों का हाथ, अब तक 80,776 लोगों की मौत

कोविड-19 संक्रमित महिला का हुआ गर्भपात:

मुंबई के कांदिवली इलाके में स्थित कर्मचारी राज्य बीमा योजना अस्पताल और  नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च की एक जॉइंट रिसर्च के नतीजे सप्ताह सार्वजनिक किए गए। इस रिसर्च के दौरान पाया गया कि, मैटल इलेक्ट्रॉनिक्स यह अपनी तरह का पहला मामला है।  जिसमें कोविड-19 इंफेक्शन 14 दिनों तक टिश्यू में जीवित रहा। जबकि, डॉक्टरों ने उसे गले से साफ कर दिया था। इस संक्रमण के ख़तरे का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि, यह वायरस शरीर के अंदर पहुंचने के बाद जीवित भी रहा और इसने वायरस की संख्या भी शरीर में बढ़ा दी। नतीजतन वायरस भ्रूण के सम्पर्क में पहुंच गया।

प्लेसेंटा से पहुंचा भ्रूण तक वायरस:

वैज्ञानिक रिसर्च और स्टडीज की जानकारी उपलब्ध कराने वाली वेबसाइट मेडआरएक्सआईवी ( MedRxiv) पर यह रिसर्च पेपर प्रकाशित किया गया। जिसमें कहा गया कि, यह महिला अस्पताल में सुरक्षा गार्ड की नौकरी करती है। जब इस महिला की प्रेगनेंसी के 2 महीने हुए, तब नोवल कोरोना वायरस इंफेक्शन का टेस्ट कराया गया। टेस्ट में महिला को पॉजिटिव पाया गया। इसी तरह 13 सप्ताह बाद महिला का दोबारा कोरोना टेस्ट कराया गया। जिसमें, कोविड-19 इंफेक्शन से वह ठीक हो चुकी थी। रेग्यूलर अल्ट्रासाउंट जांच में पाया गया कि भ्रूण की मृत्यु हो चुकी है।

इसके बाद अस्पताल ने इसे कोविड-19 से जुड़े होने के अनुमान के आधार पर NIRRH से इस बाबत सम्पर्क किया।  जिसके बाद जांच के दौरान कई जानकारियां सामने आयी। महिला की दोबारा कोविड-19 इंफेक्शन की जांच की गयी। फिर,बाघ ों का हाथ पीड़ित महिला के प्लेसेंटा, एमनियोटिक फ्लूइड के साथ-साथ भ्रूण की लाइनिंग की भी जांच की जाए। रिसर्च के दौरान पाया गया कि इंफेक्शन के 5 हफ्तों के बाद भी प्लेसेंटा में वायरस की तादाद बढ़ती जा रही है।

दूसरी प्रेगनेंसी से पहले करीना कपूर की डायट थी ऐसी, रुजुता दिवेकर ने शेयर किया करीना का प्री-प्रेगनेंसी डायट प्लान

सैफ-करीना करने जा रहे ‘कोरोनियल बेबी’ का स्वागत, जानें किन बच्चों को दिया जा रहा है यह है नाम

स्किन प्रॉब्लम्स हैं कोरोना वायरस के नये लक्षण, बरसात में बढ़ सकती हैं ये समस्याएं, ऐसे करें बचाव

डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा, भारत में 2020 के अंत तक उपलब्ध हो जाएगी कोरोनावायरस वैक्सीन

Published : August 24, 2020 4:33 pm | Updated:August 24, 2020 4:55 pm Read Disclaimer Comments - Join the Discussion सफेद बालों को ना करें अनदेखा, हृदय संबंधी रोगों के हो सकते हैं संकेतसफेद बालों को ना करें अनदेखा, हृदय संबंधी रोगों के हो सकते हैं संकेत सफेद बालों को ना करें अनदेखा, हृदय संबंधी रोगों के हो सकते हैं संकेत इन कारणों से 12 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों को पहनना होगा मास्क, पढ़ें डब्लूएचओ के नए नियमइन कारणों से 12 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों को पहनना होगा मास्क, पढ़ें डब्लूएचओ के नए नियम इन कारणों से 12 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों को पहनना होगा मास्क, पढ़ें डब्लूएचओ के नए नियम ,,